दोस्त के खातिर थाने में घुसकर दो युवकों ने पीटा हैडकांस्टेबल को … वजह जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

एक बार फिर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे है। दोस्त को न्याय नहीं मिलने से खफा दो युवक थाने पर पहुंचे और एचएम के साथ जमकर मारपीट की। वहां पर मौजूद अन्य पुलिसकर्मियों ने बीच-बचाव कर एचएम को छुडाया। पुलिस ने दोनों युवकों को शांति भंग में अरेस्ट कर लिया। आज दोनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। यह पूरा वाकया जवाहर सर्किल थाना इलाके का है।

यहीं नहीं इससे पूर्व भी एक बलात्कार पीडि़ता ने पुलिस से न्याय न मिलने व प्रताडऩा से परेशान होकर वैशाली नगर थाने के बाहर स्वयं को आग लगा ली थी इससे उसकी मौत हो गई थी। ये दो मामले तो बानगी भर है। इससे पूर्व भी इस प्रकार के कई मामले सामने आ चुके है।
पुलिस के अनुसार हैडकांस्टेबल राजेश कुमार ने मामला दर्ज करवाया कि झुंझुनूं निवासी नवीन व संदीप कल शाम को थाने पर आए। इस दौरान वह थाने में एचएम के पद पर कार्य कर रहा था। नवीन व संदीप ने दोस्त को रुपए दिलवाने की बात कहीं। इसके बाद उनसे कहासुनी हो गई। कहासुनी के बाद नवीन व संदीप ने उसके साथ मारपीट की और वर्दी फाड़ दी। थाने पर मौजूद अन्य स्टाफ ने बीच बचाव कर उसे छुडाया। इसके बाद दोनों को अरेस्ट कर लिया गया। नवीन व संदीप झुंझुनूं के रहने वाले है। तीन दिन गुजर जाने के बाद भी नवीन व संदीप के दोस्त के मामले में आरोपी से पुलिस पूछताछ तक नहीं कर पाई थी। एेसे में उन्हें न्याय मिलने की आशा पुलिस से कम नजर आ रही थी। संदीप व नवीन के दोस्त ने एक दुकानदार के खिलाफ काम के रुपए नहीं देने का परिवाद दिया था।
जांच अधिकारी एएसआइ वेदप्रकाश ने कि नवीन व संदीप के दोस्त अनिल ने थाने में उपस्थित होकर २७ अगस्त को परिवाद दिया था। परिवाद की जांच कांस्टेबल शिवचंद कर रहे है। मामला कुछ यूं है कि अनिल सेक्टर सात मालवीय नगर में किसी साहूकार के पास काम करता था। काम करने के दौरान वार्डरोब का शीशा टूटने से उसका हाथ कट गया। इसके बाद वह करीब पंद्रह-बीस दिन काम पर नहीं आया। काम पर आने के बाद उसने साहूकार से रुपए मांगे तो उसने आनाकानी की थी। इन रुपयों को लेकर ही अनिल ने साहूकार के खिलाफ थाने में परिवाद दिया था।

--advt--spot_img