50 लाख लीटर से ज्यादा दूध कलेक्शन कर आरसीडीएफ ने बनाया रिकॉर्ड, दूध कलेक्शन में भारत में तीसरे नंबर पर

जयपुर। एक दिन में रिकार्ड 50 लाख लीटर दूध का कलेक्शन कर आरसीडीएफ ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है। राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन के 45 वर्षों के इतिहास में एक ही दिन में यह सर्वाधिक दुग्ध संकलन है। राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी की प्रशासक और प्रबन्ध संचालक सुषमा अरोड़ा ने बताया कि 10 जनवरी को राजस्थान राज्य में फेडरेशन से जुड़े 24 जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघों में 52 लाख 51 हजार लीटर दूध का कलेक्शन किया गया। जो अब तक के दूध कलेक्शन में एक रिकॉर्ड है। पूरे दूध कलेक्शन में देखा जाए तो इसमें से आधा दूध केवल जयपुर डेयरी संघ का है।

गुजरात, कर्नाटक के बाद राजस्थान का नंबर

इससे लगभग एक महिना पहले ही फेडरेशन ने 15 दिसम्बर 2022 को 43 लाख 03 हजार किलोग्राम दूध संकलित कर रिकार्ड बनाया था। वर्ष 1977 में डेयरी फेडरेशन की स्थापना से लेकर अब तक यह पहला मौका है जब राजस्थान राज्य की इस शीर्ष सहकारी डेयरी ने 50 लाख लीटर के आंकड़े को पार किया है। अरोड़ा ने जोर देकर कहा कि राजस्थान राज्य की सहकारी डेयरियों में दुग्ध संकलन में लगातार हो रही इस बढ़ोतरी में मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक सम्बल योजना के अन्तर्गत दुग्ध उत्पादकों को मिलने वाले अनुदान का बहुत बड़ा योगदान है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय विकास बोर्ड, आणंद (गुजरात) की ओर से दिसम्बर, 2022 तक के आंकड़े जारी किए गए हैं। जिसके अनुसार दुग्ध कलेक्शन के क्षेत्र में राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन पूरे भाारत में तीसरे पायदान पर पहुंच गया है। पहले आरसीडीएफ पूरे भारत में पांचवें नंबर पर था। जिसका औसल भारतवर्ष में 38 लाख 82 हजार लीटर प्रतिदिन था। अब दूध कलेक्शन में गुजरात और कर्नाटक के बाद अब राजस्थान का ही नम्बर है।

दूध विपणन में 22 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी

अरोड़ा ने बताया कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष फेडरेशन के दुग्ध विपणन में भी 22 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। पिछले वर्ष जहां औसतन 18.54 लाख लीटर प्रतिदिन दुग्ध का विपणन हो रहा था वहीं इस वर्ष यह 22.68 लाख लीटर प्रतिदिन है। राज्य सरकार की ओर से 50 लाख लीटर प्रतिदिन के दुग्ध संकलन के इस महत्वाकांक्षी लक्ष्य को पूरा करने के लिये फेडरेशन के वरिष्ठ अधिकारियों और कर्मचारियों सहित जिला दुग्ध संघों के निर्वाचित अध्यक्षों और डेयरी कर्मचारियों को सहयोग के लिये धन्यवाद देते हुए बधाई दी है। उन्होंने कहा कि सहकारी डेयरियों में महिलाओं की बढ़ती सहभागिता और दुग्ध उत्पादकों का मनोबल बढ़ाने के लिये आरसीडीएफ से वरिष्ठ अधिकारियों सहित डेयरी के फील्ड अधिकारियों और निर्वाचित अध्यक्षगण की फील्ड विजिटस के चलते राज्यभर के जिला दुग्ध संघों के दुग्ध संकलन में आशातीत बढ़ोतरी हो रही है।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

--advt--spot_img