राजस्थान से भारत जोड़ो यात्रा खत्म, कांग्रेस की सियासी बयानबाजी शुरु

जयपुर। भारत जोड़ो यात्रा के लिए राजस्थान से हरियाणा में प्रवेश करने के तीसरे ही दिन राजस्थान कांग्रेस में सियासी बयानबाजी कादौर फिर से शुरू हो गया है। माना जा रहा था कि राजस्थान में यात्रा तक ही सीज़फायर है और उसके बाद फिर से घमासान शुरू होगाऔर वही हुआ हालाँकि इस बार पहली बयानबाजी पंजाब कांग्रेस के प्रभारी और बायतु विधायक हरीश चौधरी की ओर से हुई है। 

हरीश चौधरी ने बाड़मेर में एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा है कि राजस्थान में एक तीसरी पार्टीभी है जो मुख्यमंत्री की प्रायोजित है। हरीश चौधरी का ये इशारा हनुमान बेनीवाल की पार्टी की ओर माना जा रहा है। चौहटन इलाके केकापराऊ गांव में पूर्व सरपंच स्वर्गीय हरजीराम सेंवर की पुण्यतिथि कार्यक्रम में विधायक हरीश चौधरी ने कहा राजस्थान में कांग्रेसभाजपा जैसी मुख्य पार्टियों के अलावा एक तीसरी पार्टी और भी है जो हमारे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी की ओर से प्रायोजित है।हरीश चौधरी ने कहा यह बात में बड़ी ईमानदारी और ज़िम्मेदारी के साथ कह रहा हूँ। राजस्थान सियासत को जानने और समझने वालेप्रत्येक व्यक्ति को पता है कि हनुमान बेनीवाल और हरीश चौधरी राजनीति में परस्पर दूर विरोधी माने जाते रहे हैं। सांसद हनुमानबेनीवाल जब भी बाड़मेर के दौरे पर जाते हैं। हरीश चौधरी पर जमकर ज़ुबानी हमला बोलते हैं। सासंद बेनीवाल बायतु में हुए हमले काजिम्मेदार हरीश चौधरी को मान रहे हैं। संसद की दखल के बाद हरीश चौधरी व उनके भाई सहित 15 लोगों के खिलाफ सांसद पर हमलेकी एफआईआर भी दर्ज हुई थी। 

ग़ौरतलब है कि राजस्थान में OBC आरक्षण विसंगति मामले को लेकर हरीश चौधरी ने जिस तरह से राजस्थान में गहलोत सरकार परहमला किया था। उसका बिना नाम लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से भी जवाब दिया गया था। विसंगति मामले में दोनोंनेताओं के बीच झलकियाँ सामने आयी थी और इसकी बानगी यात्रा शुरू होने से पहले राजस्थान में कांग्रेस वॉर रूम में आयोजित पार्टीनेताओं की बैठक में भी दिखाई दी जिसमें कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महासचिव KC वेणुगोपाल ने बयानबाजी रोकने के लिए जब नेताओंको नसीहत दी तब हरीश चौधरी उस बैठक में वेणुगोपाल से उलझ गए थे। तब वेणुगोपाल ने उन्हें सीनियरिटी का हवाला देते हुए चुपरहने के निर्देश दिए थे। अब देखना होगा मुख्यमंत्री हरीश चौधरी के इस बयान का क्या जवाब देते हैं।

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

--advt--spot_img