राजस्थान बजट से पहले 1.36 लाख करोड़ के एमओयू, सीएम गहलोत ने कहीं यह बड़ी बात

इन्वेस्ट राजस्थान के अंतर्गत राज्य में 1.36 लाख करोड़ रुपये के निवेश के लिए सोमवार को जयपुर में मुख्यमंत्री आवास पर एमओयू साइनिंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि निवेशकों को प्रोत्साहन के लिए नीति और नीयत दोनों साफ है, यहीं वजह है कि राजस्थान निवेशकों को पसंद आ रहा है। राज्य में निवेश को प्रोत्साहन देने के लिए एमएसएमई एक्ट-2019, निवेश प्रोत्साहन योजना (रिप्स) 2019 एवं 2022, वन स्टॉप शॉप प्रणाली जैसे कदम उठाए गए हैं। पर्यटन के क्षेत्र में भी निवेश के लिए पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया गया है।

26 प्रोजेक्ट बदलेंगे औद्योगिक सूरत

कार्यक्रम के दौरान उद्योग, ऊर्जा एवं पर्यटन से संबंधित 26 परियोजनाओं के एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। राज्य के विभिन्न जिलों में लगने जा रही इन परियोजनाओं से लगभग 17 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाने और प्रदेश के सर्वांगीण विकास में उद्योगों की महत्वपूर्ण भूमिका है। राज्य सरकार की नीतियों से प्रदेश मंव उद्योग लगाने की प्रक्रिया सुगम हुई है। राज्य में कानून व्यवस्था, सड़क इन्फ्रास्ट्रक्चर, बिजली आदि की स्थिति काफी अच्छी है। राज्य सरकार की जन कल्याणकारी नीतियों के कारण प्रदेश में श्रमिक असंतोष जैसी भी कोई स्थिति नहीं है।

समिट में आया था 11 लाख करोड़ रूपए का निवेश

मुख्यमंत्री गहलोत ने निवेशकों को कहा कि पिछले वर्ष अक्टूबर माह में आयोजित इन्वेस्ट राजस्थान समिट में लगभग 11 लाख करोड़ रूपए के एमओयू साइन हुए, जिनमें से 49 प्रतिशत एमओयू का क्रियान्वयन हो रहा है। इन्वेस्ट राजस्थान समिट की सफलता और इसके तहत हस्ताक्षरित एमओयू की संख्या एवं निवेश राज्य में उद्योग जगत के विश्वास को दर्शाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों के अनुसार 11.04 जीडीपी विकास दर के साथ राजस्थान पूरे देश में दूसरे स्थान पर रहा है। कोरोना महामारी के कारण उपजी विपरीत परिस्थितियों के बावजूद सभी आर्थिक मापदण्डों पर राजस्थान उत्कृष्ट प्रदर्शन कर रहा है।

विभाग करेंगे मदद

इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री शकुन्तला रावत ने कहा कि राज्य सरकार की निवेश हितैषी नीतियों के कारण विभिन्न क्षेत्रों की प्रतिष्ठित कम्पनियां निवेश के लिए राजस्थान आ रही हैं। मुख्य सचिव ऊषा शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा इन्वेस्ट राजस्थान समिट के दौरान हस्ताक्षरित एमओयू के क्रियान्वयन के लिए सभी प्रकार का सहयोग सुनिश्चित किया जा रहा है। उद्योग विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता ने कहा कि विभाग हर स्तर पर निवेश को प्रोत्साहन देने के लिए कार्य कर रहा है।

इस अवसर पर ऊर्जा राज्यमंत्री भंवर सिंह भाटी, रीको चैयरमेन कुलदीप रांका, आरआरईसीएल के चेयरमैन आशुतोष ए.टी. पेडनेकर, आरआरईसीएल के प्रबंध निदेशक अनिल ढाका, रीको के प्रबंध निदेशक शिवप्रसाद नकाते, उद्योग विभाग के आयुक्त महेन्द्र कुमार पारख, पर्यटन विभाग की निदेशक रश्मि शर्मा सहित वरिष्ठ अधिकारी एवं कम्पनियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

यह हुए एमओयू:-

• ओएनजीसी, 25 हजार करोड़ रूपए का 5 गीगावाट रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट

• टेपसोल सन स्पार्कल प्रा.लि., 25 हजार करोड़ रूपए का 5.2 गीगावाट रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट
• ग्रीनको एनर्जीज प्रा. लि., 13500 करोड़ रूपए का 2650 मेगावाट ऑफ-स्ट्रीम क्लोज्ड लूप पम्पड स्टोरेज प्रोजेक्ट
• रिन्यू पावर, 10 हजार करोड़ रूपए का पम्पड स्टोरेज प्रोजेक्ट
• सेमालिया एनर्जी प्रा.लि., 9700 करोड़ रूपए का 1200 मेगावाट ऑफ स्ट्रीम क्लोज्ड लूप पम्पड स्टोरेज प्रोजक्ट
• गेल (इण्डिया) लि., 7250 करोड़ रूपए का सोलर पार्क प्रोजेक्ट
• एक्मे क्लीनटेक सॉल्यूशन्स प्रा. लि., 7150 करोड़ रूपए का 1500 मेगावाट ऑफ स्ट्रीम क्लोज्ड हाइड्रो एनर्जी स्टोरेज प्रोजक्ट
• आदित्य बिरला रिन्यूएबल्स लि., 6 हजार करोड़ रूपए के 1500 मेगावाट रिन्यूएबल एनर्जी प्रोजेक्ट्स एवं ग्रीन हाइड्रोजन
• मलूर रिन्यूएबल्स, 5090 करोड़ रूपए के 1800 मेगावाट का सोलर पार्क प्रोजक्ट
• बीपीसीएल लि., 5000 करोड़ रूपए का 1000 मेगावाट रिन्यूएबल एनर्जी प्लांट
• भांकरोटा सोलर पार्क, 4050 करोड़ रूपए का 900 मेगावाट सोलर पार्क प्रोजेक्ट
• किरी ग्रुप, 2892 करोड़ रूपए का एनीलिन कॉम्पलेक्स
• एक्मे क्लीनटेक सॉल्यूशन्स प्रा. लि., 2800 करोड़ रूपए का 600 मेगावाट ऑफ स्ट्रीम क्लोज्ड हाइड्रो एनर्जी स्टोरेज प्रोजक्ट
• रिन्यू पावर 2 हजार करोड़ रूपए का कार्बन प्रोजेक्ट
• चिरीपाल गु्रप, 700 करोड़ रूपए के सोलर मॉडयूल्स
• केराकोल, 200 करोड़ रूपए के बिल्डिंग मैटेरियल कार्य
• एस्प्रिट वेंचर्स प्रा. लि., 150 करोड़ रूपए का रिसॉर्ट
• ग्रेस कॉलोनाइजर्स प्रा. लि., 122 करोड़ रूपए के होटल एवं रिसॉर्ट
• उदयपुर एंटरप्राइजेज प्रा. लि., 105 करोड़ का रिसार्ट
• संप्रेति स्ट्रक्चर्स एलएलपी, 101 करोड़ रूपए का रिसॉर्ट
• रूपम सोवर होटल्स प्रो. लि., 51 करोड़ रूपए का होटल
• दयाराम, 10 करोड़ रूपए का मोटल
• आनंद बाग रिसोर्ट एण्ड स्पा, 8.5 करोड़ रूपए का होटल
• लक्ष्मणगढ़ फोर्ट प्रा. लि., 5 करोड़ रूपए का हेरिटेज होटल
• नरेन्द्र पाल सिंह, 4.64 करोड़ रूपए का होटल

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

--advt--spot_img