इतने पढ़ें लिखे और अमीर है विधानसभा चुनाव के उम्मीदवार

0
140

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म और राजस्थान इलेक्शन वाच ने राज्य में विधानसभा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता, सम्पति और आपराधिक रिकॉर्ड की जानकारी प्रदान की है. इस रिपोर्ट में इस बार चुनाव लड़ रहे 2294 उम्मीदवारों में से 2188 उम्मीदवारों के शपथ पत्र से यह जानकारी दी है.

आपराधिक रिकॉर्ड

इस रिपोर्ट के मुताबिक 320 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले दर्ज है जिसमें से 195 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले है. इस बार कांग्रेस और भाजपा सहित सभी मुख्य पार्टियों में आपराधिक रिकॉर्ड वाले उम्मीदवारों को टिकट देने में बढ़ोतरी हुई है. कांग्रेस पार्टी से सबसे ज्यादा 22 प्रतिशत आपराधिक वाले उम्मीदवारों पर दांव खेला है वहीं भाजपा ने 17, आम आदमी पार्टी ने 18 और बसपा ने 17 प्रतिशत आपराधिक रिकॉर्ड वाले उम्मीदवारों को टिकट दिया है.

करोड़पति उम्मीदवार

 

अगर उम्मीदवारों की सम्पति की बात करें तो इस बार 597 करोड़पति उम्मीदवार चुनाव मैदान में है जिसमें सबसे ज्यादा 160 उम्मीदवार भाजपा के है. वहीं कांग्रेस के 149, बसपा के 40, आप के 25 और आरएलपी के 19 उम्मीदवार करोड़पति है. इस बार चुनाव में जमींदार पार्टी की कामिनी जिंदल सबसे अमीर प्रत्याशी है वहीं दुसरे नंबर पर कांग्रेस के परसराम मोरिदया और तीसरे नंबर पर भाजप के प्रेम सिंह बजौर है. अपने शपथ पत्र में 9 उम्मीदवारों में अपनी सम्पति शून्य और 106 उम्मीदवारों ने अपनी आय का स्रोत घोषित नहीं किया है.

युवा और पढ़े-लिखे प्रत्याशी

इस बार चुनाव में जो उम्मीदवार खड़े है, उनमें ज्यादातर प्रत्याशियों की आयु 41 से 60 वर्ष के बीच है. इस बार चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों में 847 उम्मीदवारों की आयु 25 से 40 वर्ष के बीच, 1019 उम्मीदवारों की आयु 41 से 60 वर्ष के बीच, 318 उम्मीदवार 61 से 80 वर्ष के बीच और 4 उम्मीदवारों की आयु 80 वर्ष से ज्यादा है.

इन उम्मीदवारों की शैक्षणिक योग्यता की बात करें तो 1034 उम्मीदवार 5वीं से 12वीं तक पढ़े हुए है वहीँ 943 उम्मीदवार ग्रेजुएट या इस से ज्यादा पढ़े लिखे है. इसके अलावा 12 निरक्षर उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में है.

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here